Shades of Blue
Kavita kiroriwal

Kavita kiroriwal

मैं ख़ामोश हू मेरी ये दीवारें शोर करती है,
मैं रात से जितना भागती हूं ये उतना ही मुझे तेरी और करती है,
कहने को तो वो शाम अभी बाकी है ,
के मेरे नाम का वो जाम अभी बाकी है ।

Anthologies Launched

More Compilers